संवाद जन सरोकारों का....

अभीबस अब आईआरसीटीसी के ग्राहकों को बस टिकट बुक कराने की सुविधा मुहैया कराएगा

खबर सुने
  • आइआरसीटीसी की वेबसाइट और मोबाइल एप्प पर बिना किसी परेशानी के टिकट बुक कराने का विकल्प देने के लिए कंपनी ने आइआरसीटीसी के साथ समझौता किया

न्यूज डेस्क / देहरादून। बस टिकट बुक कराने के लिए भारत के तेजी से बढ़ रहे ऑनलाइन मार्केटप्लेस अभीबस डाॅट काॅम ने देश के सबसे बड़े टिकट बुकिंग प्लेटफॉर्म इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आइआरसीटीसी) के साथ साझेदारी की है। इस तरह अभीबस डाॅट काॅम ने अपनी सफलता में एक और उपलब्धि जोड़ी है। आइआरसीटीसी पर रोजाना नौ लाख से अधिक टिकटों की बुकिंग होती है और इस सहयोग से आईआरसीटीसी के ग्राहकों के लिए बस टिक बुकिंग विंडो भी खुल जाएगी। इसमें अभीबस देशभर में आईआरसीटीसी के प्लेटफॉर्म पर बस टिकट बुक कराने के विकल्प मुहैया कराएगा।

अभीबस बस टिकट बुकिंग के मामले में सबसे पुराना प्लेटफॉर्म है और अभी तक इसने अपना ऑनलाइन पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम शुरु करने के बाद से करीब 4.5 करोड़ से अधिक ग्राहकों को टिकट बुकिंग की सेवा दी है। कंपनी ई-टिकटिंग प्लेटफॉर्म- अभीबस डाॅट काॅम और अपने मोबाइल एप्स को भी लॉन्च किया है। अब इस साझेदारी के साथ आईआरसीटीसी को 100,000 बस पर बस इंवेन्ट्री मिलेगी। साथ ही आइआरसीटीसी के ग्राहकों को बसों में अपनी जरूरत के आधार पर स्लीपर, नॉन स्लीपर, एसी या नॉन एसी टिकटों की बुकिंग का विकल्प उपलब्ध होगा।

इस सहयोग से, आईआरसीटीसी की योजना अपने ग्राहकों के लिए टिकट बुकिंग की योजना को आसान करने की है ताकि वेटिंग लिस्ट में टिकट होने की स्थिति में वह आसानी से बसों की उपलब्धता को चेक कर अपनी यात्रा पूरी कर सकें और इसके लिए उन्हें एक प्लेटफॉर्म से दूसरे प्लेटफॉर्म पर भागना न पड़े। इससे यात्रियों को बुकिंग का शानदार अनुभव मिलेगा।

इस साझेदारी पर अपनी बात रखते हुए अभीबस के चीफ कमर्शियल ऑफिसर शशांक कूना ने कहा, ‘ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाना अभीबस का मुख्य उद्देश्य है। साथ ही हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उन्हें अपनी यात्रा जरूरतों, विशेषकर बस यात्रा के लिए बिना किसी मुश्किल के टिकटों की बुकिंग कराने के सुविधाजनक, आसान विकल्प मिलें। पिछले 13 से अधिक सालों से हमारी कंपनी ने देश के सभी राज्यों में लगभग सभी निजी और सरकारी बस ऑपरेटरों के साथ मिलकर काम किया है।

आईआरसीटीसी के साथ साझेदारी अभीबस को तेजी से आगे बढ़ने में मदद करेगी। वहीं आईआरसीटीसी के ग्राहकों को बिना किसी मुश्किल के बेहद आसानी से भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन बस बुकिंग प्लेटफॉर्म के जरिए बुकिंग का लाभ मिलेगा। उन्हें बुकिंग के दौरान भुगतान का भी अनोखा विकल्प मिलेगा और साथ ही प्रोमोशनल ऑप्शंस भी मिलेंगे ताकि वह शुरु से लेकर अंत तक अपनी यात्रा का आनंद उठा सकें और उन्हें कनेक्टिविटी की वैकल्पिक चॉइस भी मिले।

  • इस सहयोग से भारत में आइआरसीटीसी के ग्राहकों को देश भर के 100,000 से अधिक बस मार्ग का विकल्प मिलेगा।

आईआरसीटीसी के प्रवक्ता ने कहा, ‘आईआरसीटीसी हमेशा से भारतीय नागरिकों को सबसे अच्छा यात्रा समाधान मुहैया कराता रहा है। और देश के सबसे दूरस्थ स्थान तक बस बुकिंग विकल्प प्रदान करने की तुलना में अधिकतम कनेक्टिविटी प्राप्त करने का इससे बेहतर तरीका क्या हो सकता है। अभीबस के साथ आईआरसीटीसी की साझेदारी आईआरसीटीसी को ऑनलाइन उपलब्ध व्यापक बस इन्वेंट्री के साथ लाखों यात्रियों तक पहुंचने में मदद प्रदान करेगी।

इससे न केवल शुरुआती और अंतिम कनेक्टिविटी का अंतर कम होगा बल्कि यह ट्रेनों की अनुपलब्धता की स्थिति में यात्रियों को वैकल्पिक यात्रा का अवसर भी मुहैया कराएगा। विभिन्न राज्यों के आरटीसी और निजी बस ऑपरेटर्स का बसों का बेड़ा यूजर्स को 100,000 से अधिक बस मार्गों से चुनने का विकल्प देगा। आईआरसीटीसी और अभीबस एक लंबी और उपयोगी साझेदारी की उम्मीद करते हैं।‘

सितंबर 2020 में लॉकडाउन में राहत दिए जाने के बाद, पिछले चार से पांच महीनों के दौरान अभीबस ने मांग में करीब 200 फीसदी का उछाल दर्ज किया है। मांग में इस उछाल की भरपाई के लिए अभीबस ने 150 नए निजी बस ऑपरेटर और तीन नए सरकारी आरटीसी ऑपरेटर्स को अपने साथ शामिल किया। अब कुल बुकिंग का स्तर कोविड-19 से पूर्व की स्थिति में आ चुका है। इस वृद्धि का श्रेण इस सच्चाई को दिया जा सकता है कि लोगों के यात्रा करने के रुझान में उल्लेखनीय बदलाव आया है।

त्योहारी सीजन के कारण अक्टूबर महीने में मासिक आधार पर 32 फीसदी जबकि नवंबर महीने में बुकिंग में 36 फीसदी की तेजी आई। इसमें कोई हैरत की बात नहीं है कि गोवा पर्यटकों के लिए छोटी या बड़ी दोनों यात्राओं के लिए नंबर वन गंतव्य रहा और गोवा की यात्रा करने वाले 45 फीसदी यात्रियों ने चार दिनों के प्रवास के बाद अभीबस प्लेटफॉर्म पर वापसी की टिकट की बुकिंग कराई। जबकि बाकी यात्रियों ने 15-20 दिनों के प्रवास के बाद वापसी की बुकिंग कराई।

फिलहाल अभीबस ने एपीआरसीटीसी, टीएसआरटीसी, केरल आरटीसी, पीआरटीसी (पुडुचेरी), ओएसआरटीसी, केटीसी (गोवा), एमएसआरटीसी, जीएसआरटीसी, यूपीएसआरटीसी, बीएसआरटीसी, एचआरटीसी (हिमाचल), आरएसआरटीसी, हरियाणा रोडवेज और डब्लूबीटीसी आदि सहित विभिन्न राज्य परिवहन निगमों के साथ साझेदारियां की हैं। अभीबस पिछले तीन महीनों से रोजाना 30,000 से अधिक बुकिंग दर्ज कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: