संवाद जन सरोकारों का....

कर्नल अजय कोठियाल दिल्ली से रिमोट कंट्रोल द्वारा संचालित एक कठपुतली बनकर रह जाएंगे – मोहन चन्द्र ढौडियाल

खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के उत्तराखंड संयोजक मोहन चन्द्र ढौडियाल ने कहा कि आज हम बहुत आश्चर्य और ठगा महसूस कर रहे है। क्योंकि पूर्व मैं कर्नल अजय कोठियाल द्वारा उत्तराखंड के लोगों के लिए कुछ और बात कही गई थी, एवं उत्तराखंड को लेकर कोई और रोडमैप दिखाया गया था। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी को कर्नल अजय कोठियाल द्वारा किए गए तमाम कसमें और वादे याद है जो कर्नल कोठियाल ने उत्तराखंड के लोगों से किया था। अगर आपको डबल इंजन वाली सरकार में शामिल होना था, तो आप राष्ट्रीय राजनीतिक दल को क्यों कोसते आ रहे थे।

टोपी सिर्फ आपकी विरासत नहीं यह संपूर्ण भारतवर्ष का धरोहर और पहचान है। इस टोपी को दिखाकर आप सिर्फ और सिर्फ व्यक्तिगत फायदा देख रहे हैं एवं लोगों को बरगला रहे हैं। अगर आपको उत्तराखंड की जनता से इतनी ही मोहब्बत और प्यार था तो आप क्यों नहीं उत्तराखंड के क्षेत्रीय दलों से जुड़े, युवाओं एवं महिलाओं से किए गए वादे को निभाए।

अगर आप उत्तराखंड के जनता को अपना मानते हैं और आपको ऐसा लगता है कि आपके पास अभूतपूर्व जनादेश है तो क्यों ना अपने एक क्षेत्रीय पार्टी बनाकर चुनाव में उतरे, आपको किस चीज का डर है। क्या आप उत्तराखंड के क्षेत्रीय दलों से जुड़कर असहज महसूस करते हैं या फिर अपने भविष्य के लिए चिंतित हैं, हो सकता है आपने सिर्फ अपना व्यक्तिगत हित देखा होगा आप वह तमाम कसमे वादे और वह अनुभव सब भूल गए जो आप उत्तराखंड के लोगों से किया था। अब आप उत्तराखंड के लोगों को मोहरा बनाना बंद कीजिए और दिल्ली से रिमोट कंट्रोल द्वारा संचालित आप बस एक कठपुतली बनकर रह जाएंगे उत्तराखंड में।

राष्ट्रीय राजनीतिक दल का उत्तराखंड के संपदा के ऊपर हमेशा से निगाहें रही हैं ताकि वे इसे लूट सके और बंदरबांट कर सकें। वन संपदा, जल संपदा एवं भू संपदा यह तमाम संपदा हमारे उत्तराखंड के धरोहर है और इसी से हमारी रोजी-रोटी चलती है एवं यह हमारा मान अभिमान, ज्ञान और प्रकृति द्वारा दिया हुआ वरदान है, जिसे हम उत्तराखंड वासी अपने हित के लिए इस्तेमाल करते हैं एवं अपना जीवन यापन करते आ रहे हैं। अब इन संपदाओं पर राजनीतिक दल की निगाहें तेज हो गई है और इनके साथ मिलकर हमारे उत्तराखंड के चंद लोगों ने भी इसे अब लूटने की शुरुआत कर दी है।

कर्नल कोठियाल का आम आदमी पार्टी में जाना खुद उत्तराखंड की जनता को रास नहीं आ रहा है। क्षेत्रीय पार्टी उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के साथ आते तो स्वयं की पहचान तो बढती ही, साथ ही उत्तराखंड को भी सही दिशा भी प्रदान कर पाते। अपनी क्षेत्रीय पार्टी का समर्थन करना ही उनके लिए उपयोगी साबित होता। खैर, अब उम्मीद करता हूँ जिस तरह से दिल्ली को केजरीवाल जी द्वारा लंदन बना दिया गया। उसी तरह उत्तराखंड को मिनी स्विट्जरलैंड बनाने जैसै वादे और झांसे में उत्तराखंड की जनता नहीं आयेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: