संवाद जन सरोकारों का....

कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार जरूरतमंद परिवारों की मदद की लिए चलाया जा रहा है राशन वितरण कार्यक्रम

खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। राशन वितरण कार्यक्रम में महानगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा गरीब जरूरत मंद परिवारों को कोरोना काल में पहुंचाई जा रही सहायता के तहत महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लाल चंद शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसजनों नें विधानसभा कैंट क्षेत्रांतर्गत वार्ड न0 41 इंदिरा पुरम में जरूरत मंद परिवारों को खाद्य सामग्री का वितरण किया।

इस अवसर पर उन्होनें कहा ऐसे समय में हम सभी का दायित्व बन जाता है कि आगे बढ़कर यथा संभव जरूरतमंदों की सहायता करें। कहा कि कांग्रेस पार्टी सदैव गरीब जनता के साथ खडी रही है तथा इसी परम्परा का निर्वहन करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना महामारी में लगातार जनता के बीच पहुंचकर जरूरतमंदों को निरंतर सहायता पहुंचाई जा रही है। उन्होंने कहा कि डेढ वर्ष के पूरे कोरोना काल में भी कांग्रेसजनों ने आम जरूरतमंद गरीब एवं असहायजनों तक यथा संभव सहायता पहुंचाई है।

उन्होनें भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकारों पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकारें कोरोना महामारी में हर मोर्चे पर विफल साबित हुई हैं। कोरोना काल में मंहगाई अपने चरम पर है परन्तु भाजपा सरकारों के कान में जूं तक नहीं रेंग रही है।

डीजल-पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं तथा इसके कारण आम जरूरत की चीजों के दाम भी दुगने-तिगुने हो चुके हैं। गरीब आदमी को दो वक्त की रोटी के लिए भी संघर्ष करना पड रहा है।

टीकाकरण का दम भरने वाली भाजपा के राज में दोहरे मापदण्ड अपनाये जा रहे हैं। निजी चिकित्सालयों में टीका उपलब्ध है परन्तु सरकार के हाथ खाली हैं। कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करते हुए कहा कि इस संकट की घडी में उन्होंने जनता के कंधे से कंधा मिलाकर जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचा कर कांग्रेस पार्टी की परम्परा का निर्वहन किया है।

उन्होनें कहा बेरोजगारी के चलते चाहे प्रदेश का हताश व निराश युवा वर्ग हो, चाहे महिलाओं के प्रति बढते हुए अपराध हों, चाहे किसानों की आत्महत्या हो, जन विरोधी जिला विकास प्राधिकरणों का गठन हो,भू-कानून में बदलाव कर भू माफियाओं को संरक्षण का मामला हो, जनभावनाओं के विरूद्ध देवस्थानम बार्ड का गठन हो, बढती हुई मंहगाई हो या कोरोना काल में सरकार की निष्क्रियता व लचर स्वास्थ्य सेवायें हो या फिर आबकारी में घर-घर तक शराब पहुंचाने का मामला हो अथवा कुम्भ जैसे महापर्व में भ्रष्टाचार व अपमान का मामला हो।

यह सारे वे छाले हैं जो उत्तराखण्ड की जनता के मन में गहरे घाव किये हुए हैं। उन्होंने कहा राज्य में पूरी तरह से ध्वस्त स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के चलते तथा चिकित्सालयों के खस्ताहाल, डाॅक्टरों की कमी की वजह से मात्र शक्ति को सड़कों पर तथा शौचालयों में प्रसव करने को मजबूर होना पड़ा रहा है। इस दौरान मीना रावत, हरेन्द्र चौधरी, प्रवीन वर्मा, आजाद वर्मा, यशवंत सिंह रावत, कृति रावत, अमित रावत आदि मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: