Home अल्मोड़ा ज्वालापुर के भाजपा विधायक को गिरफ्तार कर निष्पक्ष जांच कराये प्रदेश सरकार-पीताम्बर...

ज्वालापुर के भाजपा विधायक को गिरफ्तार कर निष्पक्ष जांच कराये प्रदेश सरकार-पीताम्बर पान्डे

Vector of Live Breaking News headline in blue and red color pixels background. EPS Ai 10 file format.

स्थानीय संवाददाता / अल्मोड़ा। अल्मोड़ा कांंग्रेस के जिलाध्यक्ष पीताम्बर पान्डेय ने एक बयान में ज्वालापुर के भाजपा विधायक सुरेश राठौर की अविलम्ब गिरफ्तारी की मांग की। इस घटना पर गहरा रोष व्यक्त करते हुए जिलाध्यक्ष पान्डे ने कहा कि ज्वालापुर के भाजपा विधायक सुरेश राठौर पर रेप का मुकदमा दर्ज हुआ है जिसके बाद नैतिकता के आधार पर उन्होंने खुद अपना इस्तीफा दे देना चाहिए था। परन्तु इसके विपरीत सत्ता की हनक विधायक के सर चढकर बोल रही है।

भाजपा के संरक्षण में ऐसा घृणित कार्य करने वाले विधायक राठौर को अभी तक गिरफ्तार तक नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार एक तरफ तो बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ का नारा चीख चीख कर लगाती है वही दूसरी ओर भाजपा के विधायक और पदाधिकारी महिलाओं के साथ इस तरह के कुकृत्य करते हैं। बजाय इनको सजा देने के भाजपा इनको संरक्षित करने का कार्य कर रही है।उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद से महिला अपराधों में बढ़ोत्तरी हुई है।

बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा देने वाली भाजपा के नेता ही बेटियों के उत्पीड़न में सबसे आगे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के कुछ विधायकों और पदाधिकारियों पर पहले भी इसी तरह के आरोप लग चुके हैं परन्तु ऐसे लोगों को सजा देने के बजाय भाजपा इनको बचाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं की इन हरकतों से भाजपा का असली चरित्र जनता के सामने आ चुका है। उन्होंने कहा कि पुलिस को विधायक को अविलम्ब गिरफ्तार कर निष्पक्ष जांच करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि भाजपा लगातार सत्ता का दुरूपयोग कर रही है। जिसका उदाहरण है कि उक्त महिला की पुलिस ने शिकायत तक दर्ज नहीं की। मजबूरी में महिला को न्यायालय की शरण लेनी पड़ी तब जाकर विधायक पर मुकदमा दर्ज हुआ। उन्होंने मांग की है कि विधायक राठौर की शीघ्र गिरफ्तारी कर प्रदेश सरकार इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाये। उन्होंने कहा कि यदि सत्ता की ताकत दिखाते हुए भाजपा ने विधायक राठौर को बचाने की कोशिश की तो कांंग्रेस शान्त नहीं बैठेगी और सड़कों पर उतरकर आन्दोलन को बाध्य होगी।

रिपोर्ट—दिनेश पांडे अल्मोड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here