खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। द्वारा के जी एफ एस, जो भारत में एन बी एफ सी द्वारा समर्थित एक प्रमुख तकनीक है, जिसका उद्देश्य ग्रामीण भारत में प्रत्येक व्यक्ति और प्रत्येक उद्योग की वित्तीय भलाई को बढ़ाना है, जिसने हाल ही में एक नई अभिनव सुविधा ई-सिग्नेचर शुरू की है जो महामारी से संबंधित सुरक्षा नियमों की पालना सुनिश्चित करते हुए ऋण का उपयोग करने के लिए निर्विघ्न प्रलेखन जारी करती है।

ग्राहकों द्वारा ऋण के आवेदन करने के तरीके में बदलाव लाते हुए, के जी एफ एस असिस्ट (के जी एफ एस इन-हाउस टेक्नोलॉजी टीम द्वारा निर्मित फ्रंट एंड ऐप) ने ई-सिग्नेचर शुरू किए हैं जो अपने घरों से अपने खुद के उपकरण से ऋण के आवेदन और प्रोसेसिंग आसानी से करने की सुविधा देता है जिससे सिग्नेचर फिक्सिंग, ई आर पी पर दस्तावेज अपलोड करने आदि, की मुश्किल खत्म हो जाती है जिसके लिए व्यापक मैनुअल हस्तक्षेप की आवश्यकता होती है।

जे एल जी और एम ई एल टर्न अराउंड टाइम (टी ए टी) के बारे में बोलते हुए, मूर्ति एल वी एल एन, डिप्टी सी ई ओ, द्वारा के जी एफ एस ने कहा कि, “बाजार की गहरी समझ के साथ, हम टी ए टी को क्रमानुसार तौर पर 4 दिन और 2 दिन तक कम करने में सक्षम हुए हैं। इससे ऋण वितरण और नामांकन प्रक्रिया में आसानी हुई है और परिणामस्वरूप अधिक लोगों को फायदा मिला है जिसके साथ ही हमारी आंतरिक प्रक्रिया में नए मानदंड स्थापित हुए हैं।

के जी एफ एस असिस्ट आंतरिक रूप से बनाई गई ग्राहक केंद्रित ऐप है जो विभिन्न विक्रेताओं की विशाल एकीकरण क्षमता के साथ संबंधित है जो सर्वोत्तम संभव तरीके से अंतिम ग्राहकों को फायदा सुनिश्चित करते हुए नवीन समाधानों के साथ द्वारा के जी एफ एस का समर्थन करता है।

नई सुविधा की शुरुआत पर बात करते हुए, जॉबी सी ओ, सी ई ओ, द्वारा के जी एफ एस ने कहा, “हम, द्वारा के जी एफ एस में, के जी एफ एस असिस्ट, जो कि इन हाउस नामांकन ऐप है उसे ई-साइन सुविधा देने के लिए कानूनी रूप से जुड़े हैं, ताकि ऋण अनुमोदन प्रक्रिया आसानी से पूर्ण हो सके। एक सरल, निर्विघ्न और समय की बचत करने वाली नवीन सुविधा – ई-सिग्नेचर को हमारे ग्राहकों के लिए सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए हाल ही में हमारी सहज प्रौद्योगिकी के साथ पेश किया गया था। यह नई ई-सिग्नेचर सुविधा ने सभी ऋण दस्तावेजों के रिकॉर्ड को सॉफ्ट फॉर्मैट में बनाए रखने में मदद की है, जिससे भौतिक दस्तावेजों को संग्रहीत करने की जरूरत खत्म हो गई है, जिससे सुरक्षा और संरक्षण सुनिश्चित होता है ताकि बेहतर ग्राहक अनुभव मिल सके।

एक बार ऋण दस्तावेज स्वीकृत और अपलोड हो जाने के बाद, शाखा कर्मचारी हस्ताक्षर के लिए ग्राहक से संपर्क करते हैं जो 2-चरणीय प्रमाणीकरण – मोबाइल ओ टी पी और मोबाइल हस्ताक्षर के बाद मोबाइल फोन व टैबलेट पर किया जाता है। उन्हीं हस्ताक्षरों को फिर संबंधित स्थानों पर दस्तावेज पर स्वचालित रूप से चिपका दिया जाता है। यही दस्तावेज अब ई आर पी सिस्टम में संग्रहीत हो जाते हैं। हालांकि, कुछ कानूनी दस्तावेजों के लिए वास्तविक हस्ताक्षर चाहिए होते हैं।

ई-सिग्नेचर सुविधा के यह नवीन सुविधा ने महामारी के सम्पर्क में आए बिना हमारे ग्राहकों को हमारे उत्पादों का उपयोग करने में मदद की है और साथ ही संचालनों के साथ संबंधित समय काफी कम हुआ है क्योंकि दस्तावेजों को डाउनलोड करने, स्कैन करने और अपलोड करने की आवश्यकता खत्म हो गई है।

Previous articleलोकतंत्र की आत्मा से जुड़ाव का प्रतीक है यह कवि सम्मेलन : सिसोदिया
Next articleसडक सुरक्षा माह के अंतर्गत चौकी नारायणबगड़ द्वारा स्थानीय लोगों एवं वाहन चालकों के साथ आयोजित की गोष्ठी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here