संवाद जन सरोकारों का....

बारिश और अंधेरा होने के कारण मोटर साइकिल गहरी खाई में गिरी ,पुलिस और एसडीआरएफ चलाया गया रेस्क्यू ऑपरेशन

खबर सुने

स्थानीय संपादक / नारायणबगड़ चमोली । शुक्रवार देर रात बारिश और अंधेरा होने के कारण एक मोटर साइकिल मौणाछीड़ा के पास गहरी खाई में जा गिरी। पुलिस और एसडीआरएफ के द्वारा युवक को खोजने के लिए रातभर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार देर रात तीन मोटरसाइकिल सवार अंधेरा और बारिश के चलते नारायणबगड़ बाजार से तीन किलोमीटर कर्णप्रयाग की ओर दुर्घटना का शिकार हो गए। बताया जा रहा है कि ये तीनों युवक कुलसारी से कर्णप्रयाग जा रहे थे। जिसमें तीनों बाल-बाल बचे हैं। हालांकि दो युवक सड़क मार्ग से कुछ ही दूरी पर छिटक गये परंतु मोटरसाइकिल चालक नीचे पिण्डर नदी की गहरी खाई में जा गिरा। दोनों युवकों ने घायलावस्था में ही अपने साथी को खोजने की बहुत कोशिश की मगर वे अंधेरा होने के कारण असफल रहे।

गौरतलब है कि आजकल कर्णप्रयाग ग्वालदम बैजनाथ अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग पर चौड़ीकरण के कार्य की वजह से कच्चा मलवा पत्थरों से पहाड़ी पटी पड़ी हुई है,जिसमें रात और बारिश में युवाओं के लिए अपने साथी को खोज पाना मुश्किल ही था। थक-हार कर तब युवकों ने परिजनों को सूचना दी और उनके परिजनों ने 112 टोल नंबर पर इस घटनाक्रम की जानकारी दी।

112 टोल नंबर से थाना थराली को देर रात 12 : 45 बजे घटनास्थल की सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष ध्वजवीर सिंह पंवार और चौकी प्रभारी नारायणबगड़ नवीन नेगी मय फोर्स के मौणा छीड़ा की तरफ तीनों युवकों को खोजने निकले। थानाध्यक्ष ध्वजवीर सिंह पंवार ने बताया कि दो युवक केदारदत्त पुत्र गोविंद प्रसाद ग्राम नौणा व प्रेमसिंह पुत्र धन सिंह नेगी ग्राम मेटा तल्ला कुलसारी उन्हें सड़क पर ही घायलावस्था में मिले जिनको उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया।

बताया कि काफी देर रात तक तीसरे युवक नीरज भंडारी पुत्र मोहनसिंह भंडारी ग्राम कुलसारी की तलाश की गई परंतु सफलता न मिलते देख रात को ही गौचर से एसडीआरएफ की टीम बुलाई गई। सारी रात बारिश और अंधेरे में सर्च आपरेशन चलाकर काफ़ी खोजबीन की गई। परंतु तीसरा युवक सुबह करीब साढ़े छः बजे उजाला होने के बाद ही मिल सका।जोकि गहरी खाई में घायल पड़ा हुआ था।

बताया कि युवक को शीघ्र अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उसका उपचार किया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ नवीन चंद्र डिमरी ने बताया कि युवक को काफी गंभीर चोटें आई हैं जिसको देखते हुए उसे हायर सेंटर रेफर किया गया है। रेस्क्यू दल में एसडीआरएफ की टीम के अलावा कांस्टेबल दीपक बाली,संतोष सिंह, हरीश कुमार, जीतेंद्र घिल्डियाल,राकेश,अजय डोभाल आदि सामिल थे।

रिपोर्ट -सुरेन्द्र धनेत्रा

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: