संवाद जन सरोकारों का....

ब्ल्यू डार्ट में महिलाओं ने बढ़त हासिल की कंपनी का 100 प्रतिशत महिला-संचालित प्रथम सर्विस सेंटर खुला

खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। दक्षिण एशिया की प्रमुख एक्सप्रेस एयर तथा एकीकृत परिवहन एवं वितरण कंपनी ब्ल्यू डार्ट अपने उद्योग के सभी कार्यक्षेत्रों में बाजार का नेतृत्व करती चली आ रही है। कंपनी के लोगों और तकनीक के साथ-साथ इसके तेज हवाई और जमीनी नेटवर्क द्वारा संचालित बाजार के नेतृत्व की बदौलत ही ग्राहकों को उच्च कोटि का अनुभव प्रदान किया जाता है। इस एक्सप्रेस लॉजिस्टिक प्रदाता की मार्केट लीडरशिप आगामी महिला दिवस के अवसर पर पहला ब्ल्यू डार्ट ऑल महिला सेवा केंद्र शुरू करके अपने विविधतापूर्ण और समावेशी दायरे का विस्तार करने के लिए कमर कस चुकी है।

लॉजिस्टिक्स उद्योग को पुरुषों का बहुमत बढ़ाने वाले उद्योग के रूप में वर्षों से स्टीरियोटाइप किया जाता रहा है। ब्ल्यू डार्ट वर्ष 1983 में हुई अपनी स्थापना के बाद से ही उद्योग की इस छवि को बदलने के लिए गंभीर प्रयास करती चली आ रही है। यह कंपनी अपने ब्ल्यू डार्टर को उद्योग का नेतृत्व करने और अपनी पहचान बनाने के पर्याप्त अवसर प्रदान करती है। संगठन के अंदर सक्षम महिलाओं को वरिष्ठ नेतृत्व वाली भूमिकाएं निभाने का प्रोत्साहन देकर ब्ल्यू डार्ट ने लॉजिस्टिक्स उद्योग में लैंगिक रूप से एक समावेशी कंपनी होने का प्रमाण प्रस्तुत किया है।

खारघर, नवी मुंबई में स्थित इस सभी महिला सेवा केंद्र को सोलह उत्साही महिलाओं की एक टीम संचालित कर रही है, जो प्रबंधकों, ग्राहक सेवा प्रतिनिधियों, सुरक्षा कर्मियों के साथ-साथ बिक्री और काउंटर स्टाफ की भूमिकाएं निभाती हैं। यह जोशीली टीम असाधारण गुणवत्ता वाली सेवाएं प्रदान करेगी, जिसका ब्ल्यू डार्ट पर्याय बनी हुई है।

इसके अलावा यह कंपनी अपनी विविधता और समावेश वाली पहल को एक पायदान ऊपर ले जा रही है। इस ‘एम्प्लॉयर ऑफ चॉइस’ ने अपने परिवार में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को शामिल करने की योजना बनाई है, जिसके अंतर्गत अंधेरी में एक और सर्विस सेंटर खोला जाएगा, जो हूबहू इसके खारघर वाले ‘सभी महिला सेवा केंद्र’ जैसा होगा। अंधेरी का सर्विस सेंटर 70 प्रतिशत महिलाओं वाली एक टीम के दम पर चलेगा और लैंगिक-विविधता की रफ्तार को तेज करते हुए पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगा।

सभी महिला सेवा केंद्र का उद्घाटन करते हुए ब्ल्यू डार्ट के मैनेजिंग डायरेक्टर बैल्फोर मैन्युएल ने कहा, “हमारे कारोबार की मशाल के तौर पर सबसे आगे चलने वाली हमारी ‘पीपुल फर्स्ट फिलॉसफी’ की बदौलत संगठन के भीतर हमारे सभी लोगों को प्राथमिकता दी जाती है, इसमें – लिंग, उम्र, नस्ल, जाति का कोई भेदभाव नहीं किया जाता। ब्ल्यू डार्ट हमेशा से ही एकसमान अवसर देने वाला नियोक्ता रहा है। हमने हमेशा अपनी महिला सहकर्मियों का सहयोग एवं समर्थन किया है तथा उन्हें प्रोत्साहित किया है कि वे स्वतंत्र रूप से अपने कार्य संपन्न करें। ऐसा हमने यह देखते हुए किया है कि उनके योगदान ने ब्ल्यू डार्ट को भारत में गोल्ड स्टैंडर्ड ऑफ एक्सप्रेस लॉजिस्टिक्स बनने में मदद की है।

ब्ल्यू डार्ट ने उन मजबूत इरादों वाली महिलाओं की परवरिश की है, जिन्होंने हाथ में आए अवसरों को लपककर अपनी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को पूर्ण रूप से निभाया है। महिला कुरियर से लेकर हमारी सीनियर लीडरशिप टीम- ब्ल्यू डार्ट एविएशन की मैनेजिंग डायरेक्टर तुलसी मीरचंदानी और हमारी नेशनल कस्टमर सर्विस हेड सोनिया नायर तक, महिलाओं ने ब्लू डार्ट द्वारा साल दर साल नए कीर्तिमान निर्धारित और हासिल करने में अहम और अभिन्न भूमिका निभाई है। ये महिलाएं कई लोगों की प्रेरणास्रोत बनी हुई हैं, जिनमें मैं भी शामिल हूं।”

उन्होंने आगे कहा, “विविधता महत्वपूर्ण है खासकर हमारे व्यापक ग्राहक-आधार को देखते हुए यह और भी अहम हो जाती है। हमें एक ऐसा विविधतापूर्ण कार्यबल चाहिए, जो ग्राहक की प्रत्येक डेमोग्राफी को गहराई से समझता और प्रतिबिम्बित करता हो। ग्राहकों की मांगों और अपेक्षाओं पर खरा उतरने में यह हमारे लिए सफलता की कुंजी है। ब्ल्यू डार्ट की उपलब्धियों वाली किताब में समावेशिता की एक और पहल दर्ज होते देख कर मुझे गर्व हो रहा है।

कनेक्टिंग पीपल, इंप्रूविंग लाइव्सष् वाले आदर्श वाक्य के तहत ब्ल्यू डार्ट तीन प्रमुख स्तंभों पर अपना ध्यान केंद्रित करती है- गोग्रीन (पर्यावरण की रक्षा), गोटेक (शिक्षा की पैरोकारी) और गोहेल्प (आपदा प्रबंधन की प्रतिक्रिया)। विविधता बढ़ाने पर पूरा ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ कार्बन फुटप्रिंट पर अंकुश लगाने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। इसीलिए ब्ल्यू डार्ट ने महिला कुरियर को इलेक्ट्रिक वाहन उपलब्ध कराए हैं, ताकि उनकी सेवाओं के जरिए कार्बन दक्षता में वृद्धि सुनिश्चित की जा सके।

ब्ल्यू डार्ट ने लैंगिक विविधता की अनेक पहलों का सूत्रपात किया है, जैसे कि ‘थैंक यू, यू इंस्पायर अस’ श्रृंखला के माध्यम से अपनी महिला कुरियर को रोशनी में लाना। इस लॉजिस्टिक प्रदाता ने अपनी वेबसाइट के करियर पेज पर ‘व्हाई डू वी लव टू वर्क फॉर ब्ल्यू डार्ट’ नामक एक पोर्टल भी शुरू किया है। इस पोर्टल का उद्देश्य यह है कि एक महिला के रूप में ब्ल्यू डार्ट के साथ काम करना कैसा होता है, इसकी समझ भावी महिला ब्ल्यू डार्टर को प्रदान की जाए।

पोर्टल में ब्ल्यू डार्ट के साथ काम करने वाली उन महिलाओं की गवाही शामिल है, जो संगठन के भीतर अलग-अलग भूमिकाओं में कामयाबी हासिल कर चुकी हैं। कंपनी ने फीमेल इम्प्लॉई रेफरल प्रोग्राम के जरिए अधिक से अधिक महिलाओं को शामिल करने के लिए सभी ब्ल्यू डार्टर को तैनात कर दिया है। इसके अलावा विमानन क्षेत्र से जुड़ी महिलाओं के तौर पर ब्ल्यू डार्ट हर साल भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के साथ नजदीकी से काम करती है, ताकि स्कूली छात्राओं को विमानन उद्योग के विभिन्न पहलुओं से परिचित कराया जा सके।

ब्लू डार्ट एक ‘एम्प्लॉयर ऑफ चॉइस’ है तथा इसे अपने ‘ग्रेट प्लेस टू वर्क’ होने पर गर्व है। यह ब्रांड अपनी सभी टीमों को एकसमान अवसर प्रदान करता है, जिसमें लिंग, जाति, धर्म, उम्र आदि के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाता।

कंपनी लैंगिक विविधता को अपनी रोजगार नीति का एक मार्गदर्शक सिद्धांत मानती है। इसका मतलब है- यथासंभव उच्चतम उत्पादकता, रचनात्मकता और कार्यदक्षता प्राप्त करने के लिए कंपनी में व्यक्तियों की विविधता और विजातीयता को बढ़ावा देना।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: