संवाद जन सरोकारों का....

रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा नीति पर पीएनबी के एमडी और सीईओ सीएच एस एस मलिकार्जुन राव का बयान

खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। रिजर्व बैंक ने एक बार फिर सटीक समय पर महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए कई घोषणाएं की है। रेपो दरों को स्थिर रखने का फैसला उम्मीद के मुताबिक है और यह वृद्धि की अनिश्चितता दूर करने और मुद्रस्फीति को चुनौती को देखते हुए ऐसा जरूरी था।

15000 करोड रुपए की तरलता उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है। जिससे बुरी तरह प्रभावित होटल, विमानन समेत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम श्रेणी के उद्योगों को मदद मिलेगी। इसके अलावा कोविड-19 से प्रभावित एमएसएमई की मदद के लिए 2.0 फ्रेमवर्क में घोषित 50 करोड रूपये तक के बकाया कर्ज वाले कर्ज पुनर्गठन सुविधा का विस्तार किया गया है।

एन ए सी एच की सप्ताह के सभी दिन उपलब्धता करने से प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिए वित्तीय समावेशन के लक्ष्यों को हासिल करने में मदद मिलेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: