संवाद जन सरोकारों का....

सतपाल महाराज ने कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी करने के दिए निर्देश

खबर सुने

न्यूज डेस्क / देहरादून। विशेषज्ञों की माने तो आने वाले कुछ समय बाद भारत में कोरोना की तीसरी लहर का संकट आने वाला है। इससे पहले तीसरी लहर के हर संकट से निपटने के लिए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने पौड़ी के अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर युद्धस्तर पर तैयारी करने के निर्देश दिए। साथ ही टीकाकरण और कोरोना जांच को बढ़ाने पर जोर दिया।

पौड़ी के अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर सख्त कदम उठाने के दिए निर्देश

सोमवार को वर्चुअल बैठक कर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने एलोपैथिक चिकित्सालय, सिवाल पाबो में डॉक्टर की नियुक्ति के बाद भी अस्पताल में डॉक्टर न होने पर नाराजगी जताई। जिस पर अधिकारियों ने बताया कि कोटद्वार में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते डॉक्टरों की तैनाती कोटद्वार के अस्पताल में की गई है। कोटद्वार में कोरोना की स्थिति सामान्य होने के बाद एलोपैथिक चिकित्सालय में डॉक्टर की तैनाती कर दी जाएगी। पर्यटन मंत्री ने कहा कि कोविड की रिर्पोट समय से नहीं मिल रही है उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोविड की रिर्पोट लोंगों को समय से उपलब्ध कराई जाये।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने निर्देश देते हुए कहा कि पाबो ब्लॉक के चम्पेश्वर और सिवाल उप केंद्रों में कोरोना जांच बढ़ाई जाए। साथ ही क्वारंटीन केंद्रों में शौचालय, बिजली, पानी और भोजन की सुविधा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराजज की ओर से बैजरो और चौबट्टाखाल में लोगों को पीलिया और हेपेटाइटिस की जांच सुविधा उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा उपकरणों की खरीदारी के लिए 13 लाख रुपये दिए गए हैं। जल्द ही चिकित्सा उपकरणों की खरीदारी कर लोगों को सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। जबकि सतपुली के चिकित्सा केंद्र में अल्ट्रासाउंड मशीन लगाने के लिए अधिकारियों से प्रस्ताव मांगा। प्रस्ताव मिलने के बाद जल्द चिकित्सा केंद्र में अल्ट्रासाउंड मशीन लगा दी जाएगी। जिससे लोगों को राहत मिल सके।

पौड़ी जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि मोबाइल टीम ग्रामीण इलाकों में कोरोना की जांच कर रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए जानलेवा होगी। ऐसे में बच्चों को आसानी से स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक्शन प्लान तैयार कर चिकित्सा केंद्रों को उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन, दवाईयां व अन्य सामान पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

वचुर्वल बैठक के दौरान आशीष भट्गई सीडीओ पौड़ी, मनोज शर्मा सीएमओ पौड़ी, संदीप कुमार, उपजिला अधिकारी, सतपुली, श्याम सिंह राणा, उपजिला अधिकारी, पावौ, रविन्द्र बिष्ट, उपजिला अधिकारी, बीरोंखाल, केएस कोहली, डीएसओ पौड़ी, डाॅ0 शैलेन्द्र प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बैजरों तथा बीरोंखाल, डाॅ0 आरती प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पोखड़ा, पाटीसैण तथा नौगांवखाल व डाॅ0 अश्वनी, संयुक्त चिकित्सालय सतपुली मौजूद रहे।

यात्रा मार्गों से जुड़े व्यापारियों और तीर्थ पुरोहितों को लगाया जाए टीका

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यात्रा मार्गों से जुड़े छोटे-बड़े व्यापारियों समेत तीर्थ पुरोहितों को कोरोना का टीका लगाया जाए। साथ ही पौड़ी के लोगों को टीकाकरण और कोरोना जांच कराने के लिए जागरूक किया जाए। साथ ही निर्देश दिए कि अस्पताल में भर्ती मरीजों के ठीक होने के बाद उन्हें समय से डिस्चार्ज किया जाए। जिससे अन्य मरीजों को आसानी से बेड व अन्य स्वास्थ्य सुविधा मिल सकें।

मंत्री सतपाल महाराज ने निर्देश देते हुए कहा कि जिले के ग्रामीण इलाकों में संक्रमण की स्थिति को देखने के लिए आशा कार्यकर्ताओं को लगाया जाए।

पौड़ी जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में हम चार से पांच बेड की व्यवस्था बना रहे हैं। जहां पर कम लक्षण वाले मरीजों को रखा जा सकता है। यहां मरीजों को ऑक्सीजन और सुरक्षा किट भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए 52 सौ मेडिसिन किट प्रत्येक ग्राम सभा को बांटी जा रही है। जिससे गांव स्तर में लोगों को स्वास्थ्य सुविधा दी जा सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: