संवाद जन सरोकारों का....

विक्टोरिया क्रॉस विजेता दरबान सिंह नेगी के शौर्य में आयोजित राजकीय शौर्य महोत्सव का हुआ आगाज

खबर सुने

बीएसएनके न्यूज डेस्क / नारायणबगड़,चमोली। प्रथम विश्व युद्ध के नायक और पहला विक्टोरिया क्रॉस विजेता दरबान सिंह नेगी के शौर्य में आयोजित होने वाला तीन दिवसीय राजकीय शौर्य महोत्सव का कफारतीर के खतोली खाल मैदान में आज से आगाज हो गया है।

बुधवार को नारायणबगड़ प्रखंड के प्रथम विश्व युद्ध के नायक विक्टोरिया क्रॉस विजेता दरबान सिंह नेगी के गांव कफारतीर में उनके पैतृक घर के प्रांगण में गढवाल स्काउट, पूर्व सैनिकों, वीसी दरबान सिंह नेगी के परिजनों,जनप्रतिनिधियों और समस्त क्षेत्रवासियों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित उनके शौर्य को नमन किया,इस अवसर पर गढवाल स्काउट के जवानों ने सेना के पराक्रम की धुनों को बैंड टीम के साथ गौरवशाली बना दिया।

इसके उपरांत क्षेत्र के सैकड़ों महिलाओं और पुरुषों ने कफारतीर गांव के देवी मंदिर से पारंपरिक ढोल दमाऊं और सेना के गढवाल स्काउट के बैण्डों की भक्तिमय व देशप्रेम के सुमधुर धुनों के साथ शौर्य महोत्सव के विशाल पांडाल तक लगभग डेढ किलोमीटर की शानदार क्लश यात्रा निकाली। यहां मुख्य पांडाल में पहुंचकर समिति के अध्यक्ष ने राष्ट्रीय ध्वज तथा सैना के कैप्टन राजेश आर ने सेना का ध्वज फहराया।

क्षेत्रीय विधायक भूपाल राम टम्टा,ब्लाक प्रमुख यशपाल सिंह नेगी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत, वीसी दरबान सिंह नेगी के पोत्र वह ग्राम प्रधान कफारतीर सुदर्शन सिंह नेगी, वीसी दरबान सिंह नेगी वार मेमोरियल फाउंडेशन के सचिव गंभीर सिंह मिंगवाल,वीसी दरबान सिंह नेगी वार मेमोरियल फाउंडेशन के अध्यक्ष लखपत सिंह नेगी,एवं राजकीय शौर्य महोत्सव समिति के सदस्यों ने दीप प्रज्वलित कर वीसी दरबान सिंह नेगी के चित्र का अनावरण किया।

इसके बाद राजकीय उत्तर माध्यमिक विधालय सैंज खतोली की छात्राओं ने सरस्वती वंदना से तीन दिवसीय शौर्य महोत्सव का शुभारंभ किया। राइका चोपता की छात्राओं ने अतिथियों के सम्मान में स्वागत गीत प्रस्तुत किया। इसके बाद स्कूली छात्र छात्राओं के द्वारा एक से बढ़कर एक शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी गई जिससे इस दूरस्थ क्षेत्र की एक से बढ़कर एक प्रतिभाओं के हुनर को देख वह सुन कर सभी मंत्रमुग्ध हो गए। ऐसे शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झाड़ियां लगातार मेहमानों के स्वागत और अभिभाषणों के बीच बीच अन्तराल में दर्शकों को झुमाते रहे।

हालांकि आपको बता दें कि स्थानीय लोगों की मेहनत और वीसी दरबान सिंह नेगी के शौर्य के प्रति समर्पित यहां के लोग पिछले साल के शौर्य महोत्सव से इस बार के शौर्य महोत्सव के उद्घाटन समारोह पर मुख्यमंत्रियों के आगमन की बाट जोह रहे हैं परंतु इंतजार करते हुए इस बार भी राज्य के मुखिया इस शौर्य महोत्सव में भी नहीं आए जिससे लोगों में निराशा ही नहीं है बल्कि उन्होंने अब उम्मीद छोड़ दी कि कोई मुख्यमंत्री इस शौर्य महोत्सव में आयेगा जो पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के द्वारा की गई इस महोत्सव को राजकीय शौर्य महोत्सव की घोषणा को धरातल पर उतारेगा।

हालांकि सरकार की तरफ से प्रतिनिधित्व कर रहे क्षेत्रीय विधायक भूपालराम टम्टा को इस अवसर पर समिति की तरफ सम्मानित करते हुए एक मांग पत्र सौंपकर आग्रह किया गया है कि सरकार की ओर से वीसी दरबान सिंह नेगी से संबंधित जो भी पिछली घोषणाएं लंबित हैं उन्हें जल्द से पूरे किए जाएं,जिस पर विधायक ने सकारात्मक आश्वासन दिया है तथा अपनी निधि से शौर्य महोत्सव को दो लाख रुपए देने की घोषणा भी की है,अब देखने वाली बात तो यह होगी कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शौर्य महोत्सव को राजकीय शौर्य महोत्सव बनाने की घोषणा करते हुए पांच लाख रुपए देने की घोषणा की थी और विधायक ने भी दो लाख रुपए देने की घोषणा की है तो दोनों घोषणाओं में कोन सी धनराशि शौर्य महोत्सव को पहले मिलती है भी कि नहीं।

शौर्य महोत्सव के पहले दिन सरकारी विभागों के स्टालों पर लोगों ने विभिन्न योजनाओं की जानकारी ली तथा सेना के द्वारा मेडिकल केंप में लोगों ने अपने स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाइयां दी।इसीके साथ सेना द्वारा पूर्व सैनिकों के लिए केंटीन सुविधा के स्टाल भी लगाए गए हैं। परंतु देखना होगा कि शौर्य महोत्सव के तीनों दिनों तक सभी विभागीय स्टाल यथावत बने रहते हैं या नहीं।

वीसी दरबान सिंह वार मेमोरियल फाउंडेशन के सचिव गंभीर सिंह मिंगवाल ने कहा कि सरकार ने हमारे द्वारा आयोजित किए जाने वाले शौर्य महोत्सव को सरकारी घोषित कर पांच लाख रुपए देने की घोषणा भी की थी परंतु अभी तक पिछले शौर्य महोत्सव का पांच लाख रुपए अभी तक नहीं मिला है जिससे वह लोगों व्यवसायियों के बकायेदार बनें हुए हैं।

इसी के साथ कहा कि जनप्रेरणा के नायक वीसी दरबान सिंह नेगी की प्रतिमा को यहां स्टेडियम में स्थापित करने के लिए सरकार ने पिछले ढेढ साल से भी अधिक समय पहले एक स्मारक का निर्माण तो कर दिया लेकिन उस आधे अधूरे स्मारक में अभी तक वीसी दरबान सिंह नेगी की प्रतिमा नहीं लगने जैसे शासन प्रशासन की लापरवाही से क्षेत्रवासियों में बहुत ही निराशा बन गई है।

इस अवसर पर शौर्य महोत्सव के सचिव तहसीलदार प्रदीप नगी, प्रभारी विकास खंड अधिकारी राजेन्द्र सिंह बिष्ट,कर्नल हरेंद्र सिंह रावत,कर्नल डीएस बर्तवाल,डॉ हरपाल सिंह नेगी,ग्राम प्रधान दीपेंद्र सिंह मिंगवाल,मोहन सिंह रावत,भूपेंद्र सिंह,जगदीश प्रसाद सती,हरीश सिलोडी,अवतार सिंह बिनवाल,सरोप सिंह सिनवाल, रघुनाथ सिंह,एडवोकेट पृथ्वी नेगी,लक्ष्मी टम्टा,दिग्पाल राम,संदीप रावत आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन परमानंद सती एवं दर्शन सौरियाल ने किया।

रिपोर्ट – सुरेन्द्र धनेत्रा ,स्थानीय संपादक

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: