खबर सुने

स्थानीय संपादक / नारायणबगड़ चमोली।
नेशनल हाईवे सिमली-ग्वालदम-बागेश्वर सडक़ मार्ग पर चल रहे सड़क चौडीकरण कार्य के दौरान 33 केवी विधुत लाइन के क्षतिग्रस्त होने से बृहस्पतिवार दोपहर से पिंडरघाटी की विधुत आपूर्ति ठप पडी हुई है।

बीआरओ द्वारा इन दिनों बगोली-नारायणबगड़ के बीच सड़क चौडीकरण का कार्य किया जा रहा है। बृहस्पतिवार दोपहर को चट्टान तोड़ने के लिए किए गए विस्फोटकों से बिजली की हाईटेंशन लाइन क्षतिग्रस्त हो गई।

जिसके चलते पिंडरघाटी के तीनों ब्लाकों थराली, देवाल व नारायणबगड़ की विधुत आपूर्ति ठप्प हो गई। और बृहस्पतिवार की रात्रि से पिण्डरघाटी के लोगों को अंधेरे में गुजारनी पडी। शुक्रवार दोपहर तक बिजली न आने के कारण जहां सरकारी कार्यालयों में रोजमर्रा के कार्यों पर असर पड़ा, वहीं लोगों को कई तरह की दिक्कतें झेलनी पड़ी।

विधुत वितरण उपखण्ड अधिकारी अतुल कुमार ने बताया कि बीआरओ के द्वारा चट्टानों को तोड़ने के लिए किए जा रहे विस्फोटकों के प्रयोग से बृहस्पतिवार को नलगांव के पास लालमाटी में 33केवी विधुत लाइन के तार टूट गए।

पिंडर नदी के आरपार लाइन होने से तारों को जोडने व ठीक करने में काफी मशक्कत करनी पड रही है। कहा कि शुक्रवार शाम तक ठप्प पडी विधुत आपूर्ति को बहाल कर दिया जाएगा।

अपराह्न 3.15 पर विधुत आपूर्ति के बहाल होने से लोगों को राहत मिल गई। इस तरह पिंडरघाटी में बृहस्पतिवार दोपहर एक बजे से शुक्रवार अपराह्न तक करीबन 26 घंटे विधुत आपूर्ति बाधित रही।

रिपोर्ट – सुरेन्द्र धनेत्रा

Previous articleउत्तराखण्ड वन संसाधन प्रबंधन परियोजना की ब्लाक स्तरीय फेडरेशन के गठन हेतू कार्यशाला का आयोजन
Next articleप्रदेश में नियुक्त दायित्वधारियों से मुख्यमंत्री ने की भेंट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here