Home उत्तरप्रदेश गरीब इंसान की कमर तोड़ रही है डीजल पेट्रोल के बढ़ते दाम...

गरीब इंसान की कमर तोड़ रही है डीजल पेट्रोल के बढ़ते दाम – जितेन्द्र सनातनी

जन संवाद ( बात जन मन की ) आम जन इस समय को अपनी पूरी जिंदगी में कभी नही भूल सकता जब तो कोरोना से निकला भी नही था ओर बढ़ते पेट्रोल डीजल व घरेलू गैस के दामों ने हर किसी की कमर तोड़ दी है, देश के लोगों पर बोझ पहले से ही बेरोजगारी से त्रस्त हैं और ऊपर से महंगाई इंसान को जीते जी मारने का कार्य कर रही है।

मेरा सुझाव भी है सभी देशवासियों को कि पेट्रोल से इस्तेमाल होने वाले साधनों को कम से कम इस्तेमाल करें जिससे पेट्रोल की खपत कम होगी, ओर सरकार को चाहिए कि वेबजह के बोझ आम इंसान पर न डाले।

रोज ऑफिस जाने वाले लोग आज के समय मे परेशान हैं रोजमर्रा की जिंदगी परेशान हो गई है आज जंहा पेट्रोल के दाम 100 रुपया लीटर हैं तो डीजल कब दाम 80 से रुपया हैं ओर घरेलू गैस भी पीछे नही है । यह अब 800 रुपया पर पहुँच गया है, घर मे इस्तेमाल होने वाली गैस ने पूरे घर का वजट खराब कर दिया है।

न्यूनतम कमाई जो कि बंद हो चुकी है नोकरी के लिए लोग मारामारी कर रहै हैं बेरोजगारी अपने चरम पर है लोग परेशान हैं इस सब के बावजूद लोग जी रहे हैं।

अब सरकार को नरमी दिखानी चाहिए और जनमानस का साथ देना चाहिए उनकी परेशानी को अपनी समझनी चाहिए।
डीजल के दाम बढ़ा कर सरकार किसानों के ऊपर एक ओर बोझ रख रही है खेत की जुताई के लिए डीजल चाहिए खेत मे पानी देने की लिए डीजल चाहिए, डीजल कब रेट कम करने चाहिए जिससे किसान को थोड़ा आराम मिले।

सरकार को यह नही भूलना चाहिए कि बस वो कुछ ही दिनों के लिए हैं जिसने सरकार बनाई है वो गिरा भी सकते हैं।

तो देश के लोगों के लिए काम चाहिए ओर पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर रोक लगानी चाहिए महिलाओं को भी राहत देनी चाहिए बढ़ती घरेलू गैस कीमतों से, आम इंसान की कमर तोड़ रही है महँगाई बेरोजगारी, रोजगार के साधन देने चाहिए युवा आज के समय मे बेरोजगार घूम रहा है उसके लिए सही रोजगार की व्यवस्था भी सरकार की ही जिम्मेदारी है।

जितेन्द्र सनातनी
अध्यक्ष- युवा सोशल वेलफेयर सोसायटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here