खबर सुने

विभिन्न स्पेशलिटीज में रोबोटिक सर्जरी अधिक उन्नत और सटीक हैं।
आज के समय में मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में रोबोटिक्स गोल्ड स्टैण्डर्ड मानी जातीहै।

बीएसएनके न्यूज डेस्क / देहरादून। प्रमुख स्वास्थ्य सेवा प्रदाता मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, देहरादून ने आज देहरादून और आस पास के शहरों से आये 130 से अधिक प्रसिद्ध डॉक्टरों की उपस्थिति में ‘रोबोटिक सर्जरी’ पर एक सीएमई का आयोजन किया।

मैक्स अस्पताल, देहरादून द्वारा आयोजित सीएमई ( कंटीन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) जिसमें मैक्स अस्पताल के रोबोटिक सर्जरी विशेषज्ञों ने एक पैनल चर्चा जिसमें डॉ. जी.पी पेन्युली- डायरेक्टर डिपार्टमेंट ऑफ जनरल सर्जरी एंड रोबोटिक्स, डॉ. लूना पंत- निदेशक – प्रसूति एवं स्त्री रोग, डॉ विशाल एन कुलश्रेष्ठ-प्रिंसिपल कंसल्टेन्ट – बेरिएट्रिक सर्जरी विभाग, डॉ. ज्योति रैना-प्रिंसिपल कंसल्टेन्ट – प्रसूति एवं स्त्री रोग, रोबोटिक एवं लैप्रोस्कोपिक सर्जरी, स्त्री रोग ऑन्कोलॉजी, डॉ दीपक गर्ग- सीनियर कंसल्टेन्ट, यूरोलॉजी, किडनी ट्रांसप्लांट, यूरो-ऑन्कोलॉजी, रोबोटिक सर्जरी, डॉ मयंक नौटियाल- कंसल्टेन्ट और एचओडी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सर्जरी और डॉ संदीप सिंह तंवर- सीनियर वाइस प्रेसिडेंट – ऑपरेशंस और यूनिट हेड मैक्स अस्पताल देहरादून ने प्रतिभाग किया।

मैक्स अस्पताल ने हाल ही में दा विंची एक्स सर्जिकल रोबोट लॉन्च किया जो भारत में सबसे उन्नत तकनीकों में से एक है। इसके लॉन्च के बाद से, अस्पताल के सर्जनों की टीमों ने हर्निया, हिस्टेरेक्टॉमी, ओवेरियन सिस्टेक्टॉमी, नेक डिसेक्शन, नेफरेक्टोमी और पाइलोप्लास्टी के लिए रोबोटिक सर्जरी की है।

पैनल चर्चा के दौरान बोलते हुए, डॉ. जी.पी. पेन्युली ने कहा, “रोबोटिक सर्जरी सभी विशिष्टताओं में अधिक सटीक हैं क्योंकि वे न्यूनतम इनवेसिव, न्यूनतम रक्त हानि और तेजी से रिकवरी का लाभ प्रदान करती हैं। डॉ. लूना पंत औरडॉ. दीपक गर्ग ने कहा: “आज रोबोटिक्स मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में गोल्ड स्टैण्डर्ड है। भारतीय सर्जन अब इस तकनीक को अपनाने में बड़े पैमाने पर रुचि दिखा रहे हैं क्योंकि रोबोट-असिस्टेड सर्जरी उन्हें नियंत्रण पाने, बेहतर दृश्यता तक पहुंचने और बेहतर क्लीनिकल परिणाम प्राप्त करने में मदद करती है। पारंपरिक सर्जरी की तुलना में लाभ होने के कारण मरीज भी अब रोबोट असिस्टेड सर्जरी का करवा रहे हैं।

डॉ विशाल एन कुलश्रेष्ठ और डॉ मयंक नौटियाल ने कहा: दा विंची एक्स रोबोट डॉक्टरों को तेज सटीकता और लचीलेपन के साथ जटिल सर्जरी करने में अधिक सक्षम बनाता है। इस उन्नत तकनीक के साथ सर्जन उन उपकरणों का उपयोग करके न्यूनतम इनवेसिव सर्जरी कर सकते हैं जिन्हें वे एक कंसोल के माध्यम से निर्देशित कर सकते हैं।

रोबोट असिस्टेड सर्जरी के फायदों के बारे में विस्तार से बताते हुए, डॉ संदीप सिंह तंवर- सीनियर वाइस प्रेसिडेंट – ऑपरेशंस और यूनिट हेड ने कहा कि रोबोटिक सर्जरी से सर्जनों को इस तकनीक से सटीक और बढ़े हुए आवर्धन के साथ मुश्किल से पहुंचने वाले क्षेत्रों तक पहुंचने की आसानी होती है। रोबोटिक सर्जरी में, बड़े चीरों के बजाय छोटे चीरे लगाए जाते हैं, इसलिए कम खून बहता है और मरीज को अस्पताल में कम समय के लिए रहना पड़ता है और तेजी से रिकवरी भी होती है।

मैक्स अस्पताल, देहरादून में चिकित्सा विशेषज्ञों की एक टीम है, जो दा विंची एक्स रोबोट के साथ सर्जरी करने के लिए सात अलग-अलग विशिष्टताओं के तहत प्रमाणित और प्रशिक्षित हैं। 40 से अधिक प्रमुख डॉक्टरों और 200 से अधिक प्रशिक्षित नर्सों के साथ मैक्स अस्पताल, देहरादून परिवार का प्रत्येक व्यक्ति उच्चतम स्तर की चिकित्सा देखभाल प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Previous articleआम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर महत्वपूर्ण कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ आयोजित
Next articleदेहरादून में लॉन्च हुआ पैन-एशियन रेस्टोरेंट चेन काइलिन ने नया आउटलेट