Home राष्ट्रीय आईआईटी जोधपुर द्वारा आयोजित तीसरा उद्योग दिवस 2023 

आईआईटी जोधपुर द्वारा आयोजित तीसरा उद्योग दिवस 2023 

बीएसएनके न्यूज डेस्क / देहरादून। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जोधपुर ने उद्योग दिवस 2023 का आयोजन किया। इसका उद्देश्य उद्योग और शिक्षा जगत तथा उनके अनुसंधान कार्यक्रमों को आपस में जोड़ना है। यह आयोजन दो दिनों का था जिसमें नीति निर्माताओं, वैज्ञानिकों, उद्योग जगत के जानकारों और उद्यमियों को सार्थक विमर्श करने का अवसर मिला और उन्होंने उद्योग एवं शिक्षा जगत के संबंध को मजबूत बनाने का मार्गदर्शन दिया।

संस्थान ने प्रायोजित और औद्योगिक अनुसंधान के अवसर बढ़ाने में सक्षम इकोसिस्टम बनाया है। इसका लाभ केवल शिक्षकों को ही नहीं बल्कि छात्रों को भी होगा। वे उद्योग जगत की समस्याओं के समाधान में अपने बहु-विषयी प्रोजेक्ट तथा शोध एवं विकास का योगदान देंगे। इस आयोजन के मुख्य थीम थे मेडटेक एवं हेल्थकेयर, सस्टेनेबिलिटी की टेक्नोलाॅजी, सेंसर और आईओटी, रिसिलियंट और स्मार्ट इंफ्रास्ट्रक्चर, डिपेंडेबल और रिस्पांसेबल एआई, रोबोटिक्स और मोबिलिटी, इंटेलिजेंट – और न्यूरो-मार्केटिंग, एआर-वीआर और मेटावर्स, हाइड्रोजन इकोनोमी और इंडस्ट्री 4.0 आदि।

आईआईटी जोधपुर के निदेशक प्रो. शांतनु चौधरी  ने उद्योग एवं शिक्षा जगत के परस्पर सहयोग की महत्ता बताते हुए कहा, “कोविड के बाद हम फिजिकल मोड में पहली बार उद्योग दिवस मना रहे हैं। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य उद्योग जगत से जुड़ना है। आईआईटी जोधपुर वर्तमान में 100 करोड़ रुपयों से अधिक के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है जो उद्योगों सहित विभिन्न संगठनों के हैं। आइहब दृष्टि और जोधपुर सिटी नॉलेज एंड इनोवेशन फाउंडेशन (जेसीकेआईएफ) जैसी सेक्शन 8 कंपनियां हमारे साथ मिल कर इनोवेटरों और उद्योग जगत के लोगों के लिए काम कर रही हैं।

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘हमारे संस्थान में स्कूल ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड डेटा साइंसेज, स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड आंतरप्रेन्यरशिप और परस्पर जुड़े विषयों के प्लेटफॉर्म हैं जो उद्योग के मद्देनजर पीएचडी, एमएससी और एमटेक प्रोग्रामों को संचालन करते हैं। आईआईटी जोधपुर का शिक्षा दर्शन प्रौद्योगिकी और समाज में हो रहे बड़े बदलावों के अनुरूप है। इसलिए हमारा मुख्य उद्देश्य नियमित करिकुलम में उद्यमिता को शामिल करना है।

आईआईटी जोधपुर के आयोजन उद्योग दिवस 2023 के मुख्य उद्देश्य –

• उद्योग जगत और आईआईटी जोधपुर के बीच संभावित सहयोग के अवसरों का विचार मंच प्रदान करना

• आईआईटी जोधपुर के विभिन्न रिसर्च प्रोजेक्ट और उद्योग जगत के लिए उपयोगी संसाधनों के बारे में जागरूकता पैदा करना

• उद्योगों की तकनीकी चुनौतियों पर चर्चा का मंच तैयार करना

• उद्योगों के साथ लंबी अवधि की भागीदारी की शुरुआत करना

उद्योग एवं शिक्षा क्षेत्र के परस्पर सहयोग का महत्व बताते हुए वीआर/एआर एसोसिएशन के कार्यकारी निदेशक श्री प्रदीप खन्ना ने कहा, ‘‘हमें ‘रिस्पांसेबल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस‘ पर ध्यान देना होगा। हमारे भावी इंजीनियर बदलते दौर की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हों यह सुनिश्चित करने के लिए शिक्षा एवं उद्योग का परस्पर सहयोग जरूरी है।

मुझे इसकी प्रसन्नता है कि एआर – वीआर में एमटेक प्रोग्राम शुरू करने की पहल आईआईटी जोधपुर ने की है। इससे देश के भविष्य का कौशल विकास होगा जो उद्योग की जरूरतों को पूरा करने के लिए जरूरी है। आईआईटी जोधपुर वैश्विक उत्कृष्टता केंद्र के रूप में पहचान बना रहा है।

उद्योग दिवस 2023 की महत्ता बताते हुए डॉ. गौरव भटनागर, एसोसिएट डीन, अंतर्राष्ट्रीय संबंध एवं संपर्क, आईआईटी जोधपुर ने कहा, “इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य उद्योगों के साथ विभिन्न पहलुओं पर मजबूत भागीदारी का अवसर बढ़ाना है जैसे कि साझा रिसर्च प्रोजेक्ट, उद्योगों के साथ छात्रों और शिक्षकों का संबंध कायम करना आदि। इस आयोजन ने उद्योग जगत के सामने टेक्नोलाॅजी की चुनौतियों पर चर्चा करने और इन्हें दूर करने के लक्ष्य से उद्योग जगत से लंबी अवधि के संबंध बनाने की शुरुआत करने का अवसर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here