संवाद जन सरोकारों का....

प्रदर्शनकरियों ने टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ऋषिकेश के कॉरपोरेट कार्यालय व आवसीय परिसर में किया उपद्रव

खबर सुने

बीएसएनके न्यूज डेस्क / ऋषिकेश। पिछले कई वर्षों से टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड उपनल द्वारा पूर्व सैनिकों को कॉरपोरेशन के विभिन्न कार्यालयों व आवासीय परिसरों की सुरक्षा हेतु सुरक्षाकर्मियों के रूप में नियत अवधि के लिए एन्गेज (engage) करता रहा है। यह एक निरंतर प्रक्रिया है जिसका समय-समय पर अनुपालन किया जाता है।

उल्लेखनीय है कि इसी क्रम में उपनल द्वारा सुरक्षाकर्मियों की एन्गेज्मन्ट (engagement) की प्रक्रिया चल रही थी । जिसमें कि उपनल की गाइडलाइंस के अनुसार कार्य की आवश्यकता को देखते हुए फिज़िकल टेस्ट का प्रावधान उपनल द्वारा रखा गया था।

उक्त सुरक्षा कर्मियों में से तीन सुरक्षा कर्मियों द्वारा अन्य कर्मियों को उपरोक्त टेस्ट में भाग न लेने हेतु उकसाया जा रहा था। उपरोक्त के अनुसार उपनल के साथ चर्चा के उपरांत टीएचडीसी प्रबंधन द्वारा उक्त तीन सुरक्षाकर्मियों का substitute मांगा गया। उपरोक्त तीन सुरक्षाकर्मियों का एन्गेज्मन्ट(engagement) रद्द करके उपनल द्वारा दिए गए तीन नए सुरक्षाकर्मियों को टीएचडीसी द्वारा एन्गेज (engage) कर लिया गया।

इसी क्रम में 23.01.2023 को टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, ऋषिकेश के कॉरपोरेट कार्यालय व आवसीय परिसर में कुछ उत्तराखंड क्रांति दल के प्रदर्शनकारी परिसर के गेट का ताला तोड़कर व गेट पर खड़े सुरक्षा कर्मियों के कपड़े फाड़ कर जबरन अंदर घुस गए और धरना प्रदर्शन करने लगे। जिसके कारण निगम के सरकारी काम-काज में बाधा पहुंची तथा इस प्रदर्शन के कारण कार्यालय व आवासीय परिसर में रह रहे टीएचडीसी के अधिकारियों व कर्मचारियों के परिजनों जिनमे महिलाएं व छोटे बच्चे भी शामिल हैं, उन्हे असुविधा हुई।

प्रदर्शनकरियों द्वारा इस प्रकरण का राजनीतिकरण किया जा रहा है। समस्या के समाधान हेतु जब टीएचडीसी के उच्च अधिकारी प्रदर्शनकारियों के पास उनकी मांगे जानने पहुंचे व मांग पत्र/ ज्ञापन देने का अनुरोध किया तो उन्हे प्रदर्शनकारियों द्वारा जबरन बंधक बना लिया गया। जिन्हे कुछ देर बाद बहुत मुश्किल से पुलिस प्रशासन के सहयोग से छुड़ाया गया।

प्रदर्शनकारियों द्वारा तीन सुरक्षाकर्मी जिनमे ए. पी. जुयाल, व एस. पी. सेमवाल शामिल हैं, उन्हें दोबारा तत्काल प्रभाव से नियुक्त किए जाने की मांग की जा रही थी। उल्लेखनीय है कि सुरक्षा कर्मियों की नियुक्ति, सेवा विस्तार आदि उपनल द्वारा किया जाता है और प्रदर्शनकारियों की यह मांग भी उनके कार्यक्षेत्र में आती है, जिनकी नियुक्ति हेतु अनिवार्य मेडिकल/ फिज़िकल टेस्ट की अनिवार्यता भी उपनल की ही गाइड्लाइन है।

उपरोक्त प्रदर्शन के कारण टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड का दैनिक सरकारी कार्य बाधित हुआ व आवासीय परिसर में रह रहे परिवारों विशेषकर महिलाओं व छोटे बच्चों के जान-माल को भी हानि पहुँचने का अंदेशा रहा। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड एक जिम्मेदार कॉरपोरेट संस्था के रूप में अपनी जिम्मेदारियों के प्रति कटिबद्ध है व इन प्रदर्शनकारियों से अपील करता है कि वे अपनी मांगे ज्ञापन के रूप में उचित प्लेटफॉर्म पर रखें और उनसे सरकार व उनपल के दिशानिर्देशों को भी मानने की अपील करता है।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: