संवाद जन सरोकारों का....

यूएसआईएसपीएफ ने शिव नादर को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2022 से किया सम्मानित

यह पुरस्कार व्यापार और जनसेवा के क्षेत्र में शिव नादर के अमूल्य योगदान को मान्यता देता है

खबर सुने

बीएसएनके न्यूज डेस्क / देहरादून। भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक संबंधों के निर्माण पर केंद्रित एक द्विपक्षीय गैर-लाभकारी संगठन, अमेरिका-भारत रणनीतिक भागीदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) ने एचसीएल और शिव नादर फाउंडेशन के संस्थापक, श्री शिव नादर को टेक्नोलॉजी उद्योग जगत में उनके योगदान तथा शिक्षा प्राप्त करने के अवसर को सुलभ बनाकर लोगों के जीवन में बदलाव लाने वाले उनकी परोपकारी पहल के लिए USISPF लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया।

श्री शिव नादर ने एचसीएल और शिव नादर फाउंडेशन की स्थापना की है। एचसीएल ने बीते 45 से अधिक वर्षों से उनके मार्गदर्शन में आईटी के क्षेत्र में लगातार बदलते परिदृश्य के बीच कामयाबी के अपने सफर को जारी रखा है और यह 1976 के बाद से तकनीकी क्रांति में सबसे आगे रहा है।

अपने पूरे करियर के दौरान, उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि सफल संस्थान का निर्माण बेहतर परिणाम देने वाली साझेदारी के निर्माण और नई जानकारी के विकास पर निर्भर है। कारोबार के क्षेत्र में कामयाबी की बुलंदियों तक पहुंचने के साथ-साथ श्री नादर ने शिव नादर फाउंडेशन के माध्यम से परोपकारी पहल, खास तौर पर शिक्षा के क्षेत्र में की गई पहलों के लिए 1.1 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश किया है।

शिव नादर फाउंडेशन की संस्थाओं का प्रभाव विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों से तथा दूर-दराज के इलाकों के उन सभी मेधावी छात्रों की आकांक्षाओं में दिखाई देता है, जिन्होंने सामान्य पृष्ठभूमि से शुरुआत की और आज भारत के साथ-साथ अन्य देशों में भी अपने सपनों को साकार कर रहे हैं।

यह सम्मान प्राप्त करने के बाद अपने विचार व्यक्त करते हुए, श्री शिव नादर ने कहा: “मैं समृद्ध अनुभव प्रदान करने वाले उस सफर के लिए प्राप्त इस सम्मान को विनम्रतापूर्वक स्वीकार करता हूँ, जिसकी शुरुआत मैंने 47 साल पहले एचसीएल की स्थापना के साथ की थी। आज, एचसीएल-टेक टेक्नोलॉजी में पूरी दुनिया की अग्रणी कंपनियों में से एक है, जो विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत है। एचसीएल की स्थापना के अपने सफर के दौरान, मैंने महसूस किया कि हमें आने वाले कल के लिए ऐसे लोगों को तैयार करने की जरूरत है जो नेतृत्वकर्ता और नई खोज करने वाले इनोवेटर बन सकें।

अपने इसी विश्वास और अपनी माँ के प्रोत्साहन से मैंने शिव नादर फाउंडेशन के जरिए जनसेवा के क्षेत्र में अपनी कोशिश शुरू की। इस फाउंडेशन के अंतर्गत शामिल सभी शैक्षणिक संस्थानों में बदलाव लाने वाले नेतृत्वकर्ताओं को विकसित करने पर ध्यान दिया जाता है, जो कई अन्य लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। मैं उम्मीद करता हूँ कि इस पुरस्कार से कई युवाओं को उद्यमी बनने का प्रोत्साहन मिलेगा और वे समाज की भलाई में भी अपना योगदान देंगे।”

इस अवसर पर USISPF के अध्यक्ष एवं सीईओ, डॉ. मुकेश अघी, ने कहा, “मैं सच्ची लगन के साथ स्थानीय समुदायों की सेवा करने तथा अमेरिका और भारत दोनों देशों में समावेशी विकास एवं सामाजिक प्रगति में अपना योगदान देने के लिए शिव नादर और एचसीएल समूह का आभार प्रकट करता हूँ।

शिव वास्तव में पूरी दुनिया की सेवा करने वाले नेतृत्वकर्ता हैं, साथ ही सही मायने में अमेरिका और भारत को एक-दूसरे के करीब लाने तथा दोनों देशों के नागरिकों के भविष्य में निवेश करने में उनका अतुलनीय योगदान तारीफ के योग्य है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: